बड़े धूमधाम के साथ कुशवाहा संघ गिरीडीह ने मनाया लवकुश जयंती

गिरीडीह,झारखण्ड:राजेन्द्र प्रसाद वर्मा: गिरीडीह / आज श्रावण पूर्णिमा के दिन कुशवाहा छात्रावश सिहोडीह गिरीडीह में लवकुश जयंती का भव्य आयोजन किया गया समाज ने बड़े धूमधाम ओर भव्यता के साथ अपने आराध्य को स्मरण करते हुवे बिधिबिधान के साथ पूजा अर्चनाकरते हुवे पुष्पवर्षा की ओर कार्यक्रम की सुरुवात की पूजा बंदना के बाद कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुवे कुशवाहा संस्कृति की झलक प्रस्तुत की गई ओर समाज के मेघावी छात्र छात्राएं को सम्मानित किया गया कार्यक्रम की अध्यक्षता संघ अध्यक्ष श्री पूरण महतो ने किया संचालन महामंत्री दिगम्बर प्रसाद दिवाकर जी ने किया समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में विधयाक शिवपुजन महतो उपस्थित रहे और वक्तव्य भी दिए। समारोह में गिरीडीह कुशवाहा समाज शिरोमणि स्वर्गीय श्री रीतलाल प्रसाद वर्मा जी और जगदीश प्रसाद कुशवाहा जी को याद करते हुवे समाज के प्रति उनकी कार्यो को सराहा गया उन्होंने समाज को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है मुख्य अतिथि सभा को संबोधित करते हुवे समाज मे महिलयों की भागीदारी को सुनिशित करने पर जोर दिया समाज के विकास के लिए महिलयों का सशक्तिकरण ओर भागीदारी महत्वपूर्ण है।

आगे शिक्षा पे जोर देते हुवे बोला हमे अपने बच्चों को बेहतर शिक्षा देने की ओर अग्रसर रहना चाहिए समाज के जो बुद्धिजीवी बर्ग है उन्हें आगे आकर समाज को संगठित कर जागरूक करने की जरूरत है हमारा समाज आज भी सभी छेत्र में बहुत आगे है बस उन्हें एकजूट कर राह दिखाने की अव्यस्कता है।

लोग गरीबी का बहाना कर बच्चों को तालीम नही देते इसपे बोलते हुवे अतिथियों ने कहा आप बाबा साहेब को याद कीजिये वो भी गरीब परिवार से थे वो पढ़े आगे बढ़े और विश्व के छह बिधवानों के श्रेणी में आये ओर देश का संविधान लिख दिया गरीबी कोई अभिशाप नही है गरीबी से मुक्ति के लिए संघर्ष और मेहनत करने की जरूरत है अपनी इक्षाशक्ति को कमजोर न होने दे और बच्चों को बेहतर तालीम दे क्रायक्रम में महिलयों की उपस्तिथि न के बराबर देखने को मिले जिसपे संघ ने चिंता जाहिर की
युवा विवेक राज पेंटर ने दहेज प्रथा पे प्रहार करते हुवे गीत प्रस्तुत किया जिसकी सराहना सभा मे उपस्थित सभी लोगों ने तालियों की गड़गड़ाहट के साथ किया
मुख्य रूप से समारोह में डॉ कुलदीप नारायण ,डॉ राजकिशोर, राजेन्द्र वर्मा ,सुरेंद्र वर्मा अर्जुन प्रसाद वर्मा सुलोचना देवी आदि उपस्थित रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.