गाजियाबाद में हुआ ध्यान का उत्सव सैकड़ों लोगों ने किया हार्टफुलनेस मेडिटेशन का अनुभव

गाजियाबाद में एक बार फिर हार्टफुलनेस इंस्टीट्यूट ने प्राचीन पद्धतियों को वैज्ञानिक रूप से प्रस्तुत करते हुए लोगों को शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया। दिनांक 05 जनवरी 2020 को आईटीएस कॉलेज, मोहन नगर, जीटी रोड, गाजियाबाद में हार्टफुलनेस वेलनेस फेस्ट का आयोजन किया गया। हार्टफुलनेस वेलनेस फेस्ट का शुभारंभ प्रातः 11.30 बजे मुख्य अतिथियों द्वारा दीप प्रज्ज्वलन के साथ किया गया। इसके बाद हार्टफुलनेस संस्था द्वारा मुख्य अतिथियों का स्मृति चिन्ह प्रदान किए गए।
श्री प्रदीप गुप्ता, हार्टफुलनेस केंद्र समन्वयक, गाजियाबाद ने अपने स्वागत भाषण में हार्टफुलनेस अभियान के बारे में जानकारी दी कि किस प्रकार हार्टफुलनेस ध्यान पद्धति लोगों के जीवन में बदलाव ला रही है। उन्होंने बताया कि दुनिया के 170 से ज़्यादा देशों में 30 लाख से अधिक लोग हार्टफुलनेस पद्धति की तकनीकों को अपनाकर अपनी ज़िंदगी में फर्क़ महसूस कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि हार्टफुलनेस ध्यान में यौगिक प्राणाहुति का इस्तेमाल किया जाता है, जिसका असर शुरुआती अभ्यासों में ही महसूस होने लगता है।
इसके बाद हार्टफुलनेस इंस्टीट्यूट की उन तकनीकों के बारे में बताया गया, जो संस्था द्वारा निःशुल्क उपलब्ध कराई जाती हैं। इन तकनीकों में हार्टफुलनेस ध्यान, मानसिक सफाई और रात्रि-कालीन प्रार्थना शामिल है, जिनका दुनिया भर में मौजूद हार्टफुलनेस प्रशिक्षकों द्वारा निःशुल्क प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है। इसके बाद कॉलेज सभागार में मौजूद 500 से ज़्यादा लोगों को हार्टफुलनेस ध्यान का अनुभव प्रदान किया गया। सभागार में मौजूद लोगों ने हार्टफुलनेस ध्यान को काफी असरकारक महसूस किया ।
कार्यक्रम में हार्टफुलनेस संस्था के वैश्विक मार्गदर्शक श्री कमलेश पटेल द्वारा लिखित पुस्तक ‘The Designing Destiny’ पुस्तक का विमोचन भी किया गया। यह पुस्तक निश्चित और परिवर्तनीय भाग्य के बारे में लोगों के प्रश्नों का वैज्ञानिक दृष्टिकोण से उत्तर प्रदान करती है। साथ ही, एक आम व्यक्ति के जीवन की मूलभूत समस्याओं जैसे- तनाव, अहं, भय, असुरक्षा और आलस्य का सरल समाधान प्रस्तुत करती है।
पुस्तक के विमोचन के बाद, 5 से 15 वर्ष के बच्चों ने ब्राइटर माइंड्स के बैनर तले अद्भुत ब्रेन एक्टिविटी का प्रदर्शन किया। ब्राइटर माइंड्स द्वारा प्रशिक्षित इन बच्चों ने आंखों पर काली पट्टी बांधकर अपनी अन्य ज्ञानेंद्रियों जैसे- कान, नाक और त्वचा का इस्तेमाल करके अपने मस्तिष्क की छिपी क्षमताओं का प्रदर्शन करके लोगों को हैरत में डाल दिया।
कार्यक्रम के समापन के अवसर पर हार्टफुलनेस गाजियाबाद टीम ने सभी लोगों का धन्यवाद किया और 07 से 09 फरवरी 2020 को कान्हा शांतिवनम, हैदराबाद में श्री राम चंद्र मिशन के 75वें स्थापना दिवस पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम के लिए आमंत्रित किया।
इस अवसर पर हार्टफुलनेस इंस्टीट्यूट की ओर से श्री दीपक खंडूरी, श्रीमती प्रीति शर्मा, श्री एम एम मिश्र, श्रीमती पूनम सक्सेना, श्री टी. एन. झा, श्रीमती अनीता शर्मा तथा अन्य लोग उपस्थित थे। गाजियाबाद में यह ध्यानोत्सव श्रृंखला का चौथा वेलनेस फेस्ट आयोजन था। इससे पहले 01 दिसंबर 2019 को एबीईएस कॉलेज, एनएच 24, 02 अक्टूबर 2019 को मुरादनगर ऑर्डिनेंस फैक्ट्री और 14 सितंबर 2019 को एएलटी, राजनगर, गाजियाबाद में वेलनेस फेस्ट का सफल आयोजन संपन्न हो चुका है।
हार्टफुलनेस इंस्टीट्यूट श्री राम चंद्र मिशन की एक पहल है, जो एक अलाभकारी संस्था है । यह संस्था दुनिया के 130 से ज़्यादा देशों में स्थित अपने केंद्रों एवं 11 हज़ार से अधिक प्रशिक्षकों के जरिए लोगों को निःशुल्क आध्यात्मिक प्रशिक्षण प्रदान कर रही है। 30 लाख से ज़्यादा लोग हार्टफुलनेस ध्यान एवं उससे जुड़ी अन्य तकनीकों को अपनाकर जीवन में प्राकृतिक शांति एवं आनंद का अनुभव प्राप्त कर रहे हैं। संस्था के वर्तमान वैश्विक मार्गदर्शन श्री कमलेश पटेल हैं। भारत में संस्था के मुख्य केंद्र हैदराबाद, चेन्नै, शाहजहांपुर और दिल्ली एनसीआर समेत अनेक स्थानों पर स्थित हैं।