शेयर बाजार को रास नहीं आया बजट, एक दिन बाद निवेशकों के 4.7 लाख करोड़ डूबे

मुंबई. देश के शेयर बाजारों में शुक्रवार को 2018-19 का आम बजट पेश होने के एक दिन बाद भारी गिरावट दर्ज की गई. प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 839.91 अंकों की भारी गिरावट के साथ 35,066.75 पर और निफ्टी 256.30 अंकों की गिरावट के साथ 10,760.60 पर बंद हुआ. बाजार में यह गिरावट वित्तमंत्री अरुण जेटली द्वारा गुरुवार को आम बजट में दीर्घकालिक पूंजीगत लाभ पर कर लगाने की वजह से है. इसकी वजह से शेयरों के जरिए साल भर में एक लाख रुपये से अधिक कमाई करने पर अब 10 फीसदी कर देना पड़ेगा.

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में शुक्रवार को आई गिरावट से सभी लिस्टेड कंपनियों का मार्केट शेयर 4.7 लाख करोड़ गिरकर 148.4 लाख करोड़ तक लुढ़क गया है. इससे बाजार को लगभग पांच लाख करोड़ का नुकसान हुआ है.  बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 199.06 अंकों की गिरावट के साथ 35,707.60 पर खुला और 839.91 अंकों या 2.34 फीसदी की गिरावट के साथ 35,066.75 पर बंद हुआ. दिनभर के कारोबार में सेंसेक्स ने 35,738.13 के ऊपरी और 35,006.41 के निचले स्तर को छुआ.

बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांकों में भी गिरावट रही. बीएसई का मिडकैप सूचकांक 696.20 अंकों की गिरावट के साथ 16,574.70 पर और स्मॉलकैप सूचकांक 869.87 अंकों की गिरावट के साथ 17,847.53 पर बंद हुआ. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी सुबह 78.7 अंकों की गिरावट के साथ 10,938.20 पर खुला और 256.30 अंकों या 2.33 फीसदी की गिरावट के साथ 10,760.60 पर बंद हुआ. दिनभर के कारोबार में निफ्टी ने 10,954.95 के ऊपरी और 10,736.10 के निचले स्तर को छुआ. बीएसई के सभी 19 सेक्टरों में गिरावट रही, जिनमें सर्वाधिक गिरावट वाले सेक्टरों में रियल्टी (6.28 फीसदी), आधारभूत सामग्री (3.97 फीसदी), उपभोक्ता वस्तुएं (3.95 फीसदी), पूंजीगत वस्तुएं (3.95 फीसदी) और ऊर्जा (3.94 फीसदी) शामिल रहे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.