दिल्ली के किराड़ी में नगर निगम ने किया निजी स्कूल को सील, स्थानीय बीजेपी पार्षद पर लगे पैसे मांगने के गंभीर आरोप, 700 बच्चों का भविष्य खतरे में।

प्रभाकरण राणा, दिल्ली : दिल्ली के किराड़ी विधानसभा के प्रेम नगर में स्थित जागृति पब्लिक स्कूल को एमसीडी द्वारा सील किए जाने के बाद विवाद बढ़ता ही जा रहा है…एमसीडी द्वारा स्कूल सील किए जाने के विरोध में किराड़ी से आम आदमी पार्टी के विधायक रीतुराज झा औऱ स्कूल में पढ़ने वाले छात्रों व उनके अभिभावकों ने एससीडी के खिलाफ अपना विरोध जताया। लोगों ने बाकयदा हाथों में बैनर लेकर एमसीडी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। विधायक रीतुराज झा ने विरोध स्वरुप हाथों में कटोरा लेकर इलाके में घूम घूमकर लोगों से चंदा इक्ट्ठा किया। रीतुराज झा ने कहा कि स्कूल में पढ़ रहे बच्चों को बाहर निकालकर एमसीडी ने स्कूल को सील कर दिया। साथ ही कहा कि स्थानीय पार्षद पूनम परासर ने स्कुल प्रशासन से पैसों की मांग की थी जोकि सरासर गलत है। और हम इसके लिए हर कोशिश करेंगे।

वहीं बीस साल से चल रहे जागृति पब्लिक स्कूल की जनरल सेकेट्री शोभा चौधरी ने कहा कि स्कूल की बिलडिंग पूरी तरह से जर्जर हो चुकी थी। सिक्योरिटी को देखते हुए सितंबर 2017 से निर्माण कार्य चल रहा था। इस दौरान कोई भी एमसीडी अधिकारी नहीं पहुंचा। साथ ही निगम पार्षद पूनम परासर पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए। जिसमे कहा गया है कि पूर्व विधायक द्वारा हर साल कराए जाने वाले क्रिकेट टूर्नामेंट में प्रथम पुरस्कार की मांग स्कूल से की गई जिसकी कीमत करीब 2 लाख के आसपास थी, जिसे देने के लिए स्कूल प्रशासन ने मना कर दिया। जिससे नाराज़ होकर पार्षद महोदया ने mcd से ये कार्यवाही करवाई है।

वहीं जब स्थानीय निगम पार्षद पूनम परासर पर लगे इन गंभीर आरोपों पर जब हमने उनसे उनका पक्ष जानने पहुँचे तो उनके पति अनिल झा जोकि किराड़ी से ही बीजेपी के पूर्व विधायक है ने कहा है कि उनकी पार्षद पत्नी पर लगे सारे आरोप बेबुनियाद है और उन्हें व उनकी पत्नी को राजनीतिक प्रतिद्वंद्वीता के चलते बदनाम किया जा रहा है। अगर इन आरोपो का कोई भी सबूत स्कूल प्रशासन या आप विधायक के पास है तो वो उसे पेश करें अन्यथा हम उनपर कानूनी कार्यवाही जा करेंगे। साथ ही mcd ने स्कूल को करीब एक डेढ़ महीने पहले ही इसका नोटिस जारी किया था। और हम भी बच्चो की पढ़ाई को लेकर चिंतित है हम भी इस सिंलिंग को खुलवाने के लिए पूरा प्रयास करेंगे।

अब इस पूरे प्रकरण में भले ही राजनीति शुरू हो गयी हो साथ ही आरोप प्रत्यारोप का दौर भी चलना शुरू हो गया है। लेकिन एसमीडी, स्थानीय पार्षद, मौजूदा विधायक और स्कूल के बीच उठे इस विवाद में कोई पीस रहा हैं तो वो सिर्फ स्कूली बच्चे हैं। जिनकी सफलता स्कूल की पढ़ाई पर टीकी हुई है। वहीं अब देखना होगा एमसीडी द्वारा स्कूल के सिलिंग से उठे विवाद की लहर कहा तक जाती है और आखिरकार ये सीलिंग कब तक खुल पाती है ताकि यहां पढ़ने वाले बच्चो का भविष्य अंधकार में न चला जाये।

 

One thought on “दिल्ली के किराड़ी में नगर निगम ने किया निजी स्कूल को सील, स्थानीय बीजेपी पार्षद पर लगे पैसे मांगने के गंभीर आरोप, 700 बच्चों का भविष्य खतरे में।

  • November 11, 2019 at 2:31 pm
    Permalink

    I appreciate you sharing this post.Really looking forward to read more. Much obliged.

Leave a Reply

Your email address will not be published.