ग्रामीण बैंक का कारोबार1531 करोड़, 143 करोड़ एनपीए

जमुई। बिहार ग्रामीण बैंक का क्षेत्रीय कार्यालय जमुई में स्थापित होने के बाद पहली बार क्षेत्रीय प्रबंधक आरएस जैन पत्रकारों से रू-ब-रू हुए। उन्होंने जमुई न्यायालय परिसर में प्रस्तावित राष्ट्रीय लोक अदालत में उपस्थित होकर लंबित ऋण का निपटारा करने की अपील की है। क्षेत्रीय प्रबंधक ने जमुई क्षेत्रीय कार्यालय के अधीन बैंक शाखाओं का कुल 143.99 करोड़ रुपये एनपीए होने की जानकारी देते हुए बताया कि इतनी मोटी रकम का एनपीए होना जिले एवं देश के विकास के लिए नुकसानदेय है। ऋणधारकों को प्रेरित करने के लिए ऋण चुकाओ-ऋण पाओ योजना चलाए जाने की जानकारी उन्होंने दी। साथ ही उन्होंने बैंक की उपलब्धि बताते हुए कहा कि जिले में सर्वाधिक ग्रामीण बैंक की शाखाएं कार्यरत हैं तथा सीडी रेसियो के मामले में ग्रामीण बैंक अव्वल है। उन्होंने ग्रामीण बैंक में सरकारी खाता की संख्या राष्ट्रीयकृत बैंकों की अपेक्षा काफी कम होने पर अफसोस जताया। साथ ही इसके लिए उन्होंने पहल करने की बात कही। उन्होंने कहा कि जिले की जरूरतों को ध्यान में रखकर कार्ययोजना बिहार ग्रामीण बैंक तैयार करती है। अंत में उन्होंने क्षेत्रीय कार्यालय के अधीन जमुई और शेखपुरा के 73 शाखा कार्यरत होने की जानकारी दी। इन शाखाओं में 267 कर्मी के बलबूते 1531.41 करोड़ का कारोबार किया जा रहा है। कुल जमा 909.28 करोड़ तथा एडवांस राशि 622.13 करोड़ है। कृषि क्षेत्र में उल्लेखनीय ऋण प्रदान करने की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि कुल एडवांस का 74 प्रतिशत राशि कृषि ऋण के रूप में दिया गया है। पत्रकार वार्ता के दौरान क्षेत्रीय कार्यालय के ऋण एवं विकास प्रभाग के वरीय प्रबंधक शैलेश कुमार भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *