तूफान ने राजिम कुंभ में मचायी तबाही, बृजमोहन ने कहा भगवान परीक्षा लेते है आस्था और प्रगाढ़ हुई

रायपुर : अचानक आयी तेज हवायें और बारिश के चलते राजिम कुंभ कल्प में बनाये गए कई पंडाल व अस्थायी निर्माण धरासायी हो गए। तार बिखर गए, बिजली भी गुल हो गई। रायपुर-गरियाबंद मार्ग में जाम की स्थिति निर्मित हो गई। इस अफरा-तफरी के माहौल को ठीक करने प्रदेश के धर्मस्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने खुद ही मोर्चा सम्हाला। वायरलेस सेट हाथ मे लेकर  बारिश में भीगते हुए पैदल ही कुंभ स्थल में चल पड़े। वायरलेस पर लगातार संदेश देते हुए पुलिस के तैनात जवानों को विभिन्न स्थानों पर पहुंचने तथा व्यवस्था सही करने के निर्देश देते रहे। राजिम के बड़े पुल पर जाम की सूचना मिलते ही वे वहां पहुंचे और ट्रैफिक जाम को ठीक कराया। वे कुंभ में पधारे साधु-संतों से मिले और कुशलक्षेम पूछा तथा उपस्थित कुंभ समिति के सदस्यों व अफसरों से इनसे सतत संपर्क बनाए रखने की बात कही। राविवार होने की वजह से हज़ारों की संख्या में श्रद्धालु आज राजिम पहुंचे थे, जिस वजह से भी व्यवस्था को जल्द दुरुस्त करने में कठिनाई हो रही थी।
श्री अग्रवाल ने बताया कि रविवार होने की वजह से रायपुर में काफी संख्या कार्यक्रम थे जिनमें उन्हें शामिल होना था। इन्ही कार्यक्रमों के दौरान जब रायपुर में बारिश के साथ तेज हवायें चलने लगी तो एक राजिम को लेकर कुछ अंदेशा हुआ जिसके पश्चात उन्होंने अपनी गाड़ी का रुख सीधे राजिम की ओर कर दिया। देर शाम राजिम पहुंचते ही नजारा जैसा महसूस कर रहा था कुछ वैसा ही था। अंधेरा था और क्षेत्र की लाइट भी गुल थी। परंतु ड्यूटी पर तैनात सभी अधिकारी-कर्मचारी,स्वयंसेवी संगठनों के कार्यकर्ताओं के परिश्रम से सब को नियंत्रित कर लिया गया।
बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि भगवान की कृपा थी की इतने हवा-तूफान के बाद भी कोई  बड़ी दुर्घटना नही घटी। सभी श्रद्धालु और संत सुरक्षित रहे। उन्होंने कहा कि ईश्वर हमारी आस्था की परीक्षा लेते है। यह भी हमारी परीक्षा है। चाहे जैसी भी परिस्थितियां बने राजिम कुंभ में होने वाले धर्म-कर्म के आयोजनों में आयी हर कठिनाई का हम सामना करेंगे और नियत समय पर सभी आयोजन सम्पन्न होंगे। हमने ध्वस्त हुवे गंगा आरती मंच को ठीक किया और नियत समय पर आरती की। टूट चुके राजिम कुंभ के मुख्य मंच पर भगवान राजीव लोचन को पुनः स्थापित कर उनकी विधि विधान के साथ पूजा-अर्चना की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *